Drishyam 2 :- दृश्यम 2 इस फिल्म को मिला लोगों से प्यार, ट्विटर पर हुई फिल्म की तारीफ़ ?



हमारा भारतीय सिनेमा वक्त के साथ बदलता जा रहा है। ये फिल्म साउथ की फिल्म की रीमेक है। और इसमें अजय देवगन और अक्षयखन्ना ने दर्शकों को बांधे रखा। सस्पेंस और थ्रिलर की ये कहानी दर्शकों को प्रभावित करती है। इस फिल्म में अजय और अक्षय के सामने तब्बू का किरदार थोड़ा दब गया। हलांकि तब्बू जी भी एक बढ़िया अदाकारा है।



अब बात करते हैं। कहानी पर परन्तु हम आपको सिर्फ इतना बताएँगे कि इस फिल्म में अजय अपने परिवार को बचाने के लिए लड़ता है। और अक्षय इन्साफ के लिए परन्तु लग रहा अब वह समय नहीं रहा जब हीरो के साथ दर्शकों की भावनाएं जुड़ने के बाद क़ानून को सम्मान दिया जाता रहा है। हलाकि गीतामेरा नाम, दीवार, क्रोधी, बाज़ीगर, डर और भी कई फिल्मों में विलेन टाईप के हीरो को लोगों से उसके किरदार को प्यार मिला हीरो से ज्यादा और शायद वक्त के साथ लोगों की सोच बदल रही है। वर्तमान के भारत में लोग क़ानून व लोकतंत्र के प्रति ज्यादा लगाव नहीं रखते। लोग जिस किरदार से भावनाएं जोड़ते है। उसी को जितता हुआ देखना चाहते है।



शायद लोगों का इंसाफ के प्रति लगाव कम हो रहा है। अगर हम सिंघम आदि फिल्मों की बात भी करें तो भी उसमें नायक को दर्शकों की तभी सराहना मिलती है। जब वो कायदे क़ानून से हटकर विलेन को उसी की तरह हराता है। तो क्या माने भारत बदल रहा है। अगर ऐसा है। तो लोग क़ानून या उसके रखवालों के प्रति ज्यादा सम्मान नहीं रखेंगे। वैसे हर व्यक्ति का अपना नजरिया है। परन्तु जैसे इस फिल्म को लोगों का प्यार मिला है। अगर रहा है भारत की सोच बदल रही है। ज्यादा क्या लिखूं फिल्म को आनंद लेने के लिए उसे देखे फिर अपने विचार रखे ताकि समझ सके लोग क्या सोचते हैं।

जय हिन्द।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Featured post

बंदी सिंहगो की रिहाई पर मोहाली में मोर्चा ? (bandi siinghago ki rihaayi par maholi me morch)