International News :- हम भारतीये बहुत उम्मीदें लगा लेते हैं। ऋषि सुनक पर विचार ?



अभी ऋषि सुनक को लेकर बहस छिड़ी हुई है और कहा जा रहा है कि विदेशों में इन सब चेहरों के अलग अलग पद पर निर्वाचित होने से भारत को क्या लाभ, पहले अमेरिका में कमला हेरिस एक बड़े पद पर बैठी परन्तु भारतियों के लिए बीजा नहीं खुला और ऋषि सुनक ने जिस लेडी को गृह मंत्री बनाया है। उसकी विचारधारा भी भारतीयों के प्रति सही नहीं है। उनका नाम है। सुवेलाब्रेवरमैन इनका पिछला कार्यकाल भारत के प्रति ज्यादा नेगेटिव होता है। अब आपको बतातें हैं। ये लोग जिन भी ओहदों पर बैठे हैं। तो इनकी जिम्मेदारी है।
अब आपको बताना चाहेंगे कि जिस जिम्मेदार पदों पर ये लोग हैं। और जिस लोकतंत्र ने इन्हे वहां पहुंचाया है। तो इनकी जिम्मेदारी ज्यादा हो गई और मैं यहाँ ये कहना चाहूंगा हमें सिर्फ प्रेरणा लेनी है। न कि ये सोचना है कि अब ये हमारे लिए कोई बहुत बड़ा कार्य कर देंगे। ये लोग अभी पूरी तरह सैटल भी नहीं हुए और हम भारतीयों ने आस व उम्मीदें लगानी शरु कर दीं। अब यहाँ इस मुद्दे को तब भी ज्यादा हवा दी जा रही है। जब ऋषि सुनक के प्रधानमन्त्री बनने से सबसे ज्यादा क्रेडिट BJP या उनकी विचारधारा के लोग ले रहें हैं। तो नेगेटिव प्रचार इन पार्टियों के विरोधी कर रहे हैं। ऋषि सुनक या कोई भी जिम्मेदार व्यक्ति की पहली वफ़ा उस देश व लोकतंत्र के लिए है। जिसने उन्हें ये सम्मान दिया। इसलिए दिल पे मत लो भारतीयों। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Featured post

बंदी सिंहगो की रिहाई पर मोहाली में मोर्चा ? (bandi siinghago ki rihaayi par maholi me morch)