Intoxication :- नशा उन्मूलन पर कार्य करता एक पिता या एक सांसद (MP) ?

लखनऊ में मोहनलालगंज से सांसद श्री कौशल किशोर जी जो भारतीय जनता पार्टी से सांसद हैं। और बहुत अच्छे इंसान भी हैं। वहाँ के लोग उनकी छवि एक अच्छे नेता की है। सांसद महोदय का बेटा आकाश किशोर उर्फ़ जेबी उम्र 28 वर्ष नशे की वजह से इस दुनिया को छोड़कर चला गया। पीछे अपने माता पिता, भाइयों और पत्नी और बच्चों को छोड़ कर चला गया। इस मृत्यु के बाद सांसद महोदय ने संकल्प लिया की वो नशा मुक्ति अभियान चलाएँगे, जिस पर वो पूरी ईमानदारी से कार्य कर रहें हैं। सांसद महोदय की पत्नी भी विधायक हैं उनकी शालीनता पर बस इतना कहना चाहेंगे। एक बार सांसद महोदय के आवास पर जाने का मौका मिला वहाँ विधायिका जी खुद आये हुए लोगों का मुँह मीठा करवा रहीं थीं। जो की यूपी की सभ्यता में अतिथि के लिए रस्म है। मुंह मीठा करवाने की। ऐसे अच्छी छवि के लोगों को युवा पुत्र की मृत्यु का दर्द झेलना पड़ा। परन्तु होनी के आगे किसी का बस नहीं चलता।



अब सांसद महोदय संकल्प लिए हैं लोगों को नशे से दूर करने के लिए और प्रयास कर रहें हैं। उन्होंने सभी को प्रार्थना की है कि वो 'नशा मुक्त समाज - आंदोलन अभियान कौशल का' से जुड़ कर नशा मुक्त सेनानी बनिए और नशे के ख़िलाफ़ संकल्प कराने, जागरूकता पैदा करने के लिए निरन्तर कार्यक्रम आयोजित करिए, होर्डिंग्स, बैनर, पोस्टर, स्टीकर और कैलेण्डर अपने सौजन्य से, अपने नाम से अपनी फोटो लगाकर "नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल का" के तहत बनवाइये, लोगों को जोड़िए, इस आंदोलन में सहयोग करिये। यह आंदोलन भारत को नशा मुक्त भारत बनाने का है। आगामी शिक्षक दिवस 5 सितम्बर को सभी शिक्षा संस्थानों से निवेदन है कि अपने छात्र - छात्राओं को नशा मुक्त रहने का संकल्प करवाए। स्टाफ प्रण लें संकल्प लें नशा मुक्त होने  या रहने का।



हम उन चिरागों को जलाये रखना चाहते हैं। जो नशे की आंधी में समय से पहले बगैर रौशनी दिए बुझ जातें हैं

 कौशल किशोर

    के द्वारा की गई अपील को

   जन जन तक पहुंचाने का प्रयास अपने                ब्लॉग द्वारा लेखक

नोट :- सांसद महोदय का प्रयास बहुत सराहनीय है। परन्तु यहाँ पर हम सांसद महोदय को निवेदन करना चाहते हैं। आपकी भावनाओं का लाभ उठाकर कुछ लोग अपनी जेबें भी भरना चाहते हैं। वो लोग आपके नज़दीकी हैं। उनके चेहरे भी हम लोग आपके वा इस समाज के सामने उचित समय पर लेकर आएँगे। और दुर्भाग्य है कि नशा मुक्ति अभियान के फंड को दीमक की तरह खा रहें हैं। और उनके इस गैंग के मेन सरगना नशा मुक्ति से जुड़े एक विभाग के बड़े अधिकारी हैं। और इस देश के भ्रष्ट सिस्टम का लाभ उठाकर अपने से बड़े अधिकारियों को रेगुलर रिश्वत का लाभ देकर बहुत बड़ी राशि पार कर रहें हैं। उचित समय इसलिए कहा पूर्ण पक्के सबूतों से फिर चेहरे सामने लाएंगे। सांसद महोदय आपकी सिफारिश से दिल्ली से उनकी फाइलें पास होतीं हैं। अभी तक आपके द्वारा किये गए प्रयासों से लगता नहीं कि आप उनसे कोई लाभ ले रहें हैं। परन्तु वह लोग तो कुछ बड़ा कर रहें हैं। आपसे निवेदन है कि अगर ये स्कैंडल जग जाहिर हुआ तो आप सही के साथ खड़े होंगे ऐसी हमें उम्मीद है। चाहे वह लोग आपकी जाति के या आपके नज़दीकी क्यूँ ना हो जैसे आपने अपना बेटा खोया है। वैसे ही सही शिक्षा या नशे से ग्रसित लोगों को सही साथ ना मिलने के कारण वह व्यक्ति अपने अकेले पन के कारण एक दिन अपना जीवन खो देता है।

            नशे पर लेख 5 सितम्बर को 'नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल का' के तहत

                                                                                                         लेखक की कलम से

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Featured post

 पठान मूवी को मिली पहले दिन अच्छी ओपनिंग , हिंदु संगठनों का विरोध भी काम नहीं आता।