Asia Cup 2022 :- अर्शदीप से छूटा आसान कैच

 कहने वाला ने दिया खालिस्तान का खिताब ?

                                                       अर्शदीप सिंह से छूटा आसान कैच 

अर्शदीप सिंह भारत के बायें हाथ के तेज़ गेंदबाज़ समय था भारत - पाकिस्तान के मैच का पाकिस्तान की पारी का 18 वां ओवर आसिफ़ अली का आसान कैच अर्शदीप से छूट गया गेंदबाज़ थे रवि विश्नोई इस कैच ने पाकिस्तान को मैच में वापिस लौटाया। अब हाई - प्रोफ़ाइल मैच हाई वोल्टेज ड्रामा नया प्लेयर स्थिति नहीं हैंडिल हुई। अर्शदीप को काफी ट्रोल किया गया हार स्वीकार नहीं हो रही थी इंडियन फैंस,ऊपर से विकिपीडिया से छेड़ छाड़ करके उसे इंडियन की जगह खालिस्तानी लिखा गया और इस बात ने आग में घी का काम किया। और ये बातें फैंस में चलने लगी।

परन्तु सरकार और उनकी एजेंसियों और स्थिति को समझा और विकिपीडिया को नोटिस भेजा और अर्शदीप की फैमिली को सुरक्षा भेजी। पता चला कि किसी पाकिस्तानी ने ये छेड़छाड़ की। और यहाँ ये भी पता चला कि 2018 में भी अर्शदीप के साथ यही कुछ हुआ था। हरभजन सिंह और कई बड़ी हस्तियां अर्शदीप के हक़ में खड़ी हो गई और कहा जाने लगा कैच जानबूझकर ज्यादा प्रेसर के कारण छूटा है। और भी बहुत कुछ कहा जिससे मामले ने बहुत ज्यादा तूल नहीं पकड़ा परन्तु एक बहस छेड़ दी सोशल मीडिया पर अर्शदीप की सपोर्ट के स्लोगन वायरल होने लगे और पाकिस्तान और उस पाकिस्तानी की निंदा होने लगी। सोशल मीडिया की भाषा में ट्रोल होने लगा। अब लास्ट में अर्शदीप को जैसे ही इस हार का कारण माना जाने लगा वैसे सोशल मीडिया पर खालिस्तानी कहना शुरू कर दिया गया।

फैक्ट चेकर मोहम्मद ज़ुबैर ने भारतीय प्रशंसकों के टिवीट का क्लोज शेयर किया जिसमें अर्शदीप को काफी ट्रोल किया गया। अर्शदीप के बचाव में हरभजन आये और उन्होंने टिवीट करे के कहा कि नौजवान अर्शदीप सिंह की निंदा करना बंद करें। कोई भी कैच जानबूझकर नहीं छोड़ता है। भारत के खिलाड़ियों पर हमें गर्व है।पाकिस्तान ने हम से अच्छा खेला है अर्श और टीम को लेकर जो घटिया बातें कही जा रही हैं वे शर्मनाक हैं अर्श गोल्ड हैं। इसके अलावा अभिनव मुकुंद और विराट कोहली ने भी अर्शदीप का बचाव किया। सोशल मीडिया एक्टिविस्ट अंशुल सक्सेना ने एक के बाद एक कई टिवीट कर इसका दावा किया है। उन्होंने सबूत के रूप में कई स्क्रीनशॉट भी शेयर किये। नवाब नाम के पाकिस्तानी ने लिखा गद्दार है। निकालो इसे बाहर पाकिस्तान के पंजाब भेज दो। पाकिस्तान के पत्रकार W.A खान ने लिखा - अर्शदीप साफ तौर पर पाकिस्तान द्वारा सपोर्ट किये जा रहे खालिस्तान आंदोलन का हिस्सा है। पहले भी अर्शदीप की विकिपीडिया पेज से छेड़छाड़ हुई। वहां उसे खालिस्तान टीम का हिस्सा बताया गया। यह बदलाव भी पाकिस्तान से किया गया। 

                                                  अर्शदीप सिंह का परिवार 

अब मुद्दे की बात चाहे जैसे भी किया लेकिन एक सवाल खड़ा हो गया कि अब भारत के सिखों को खालिस्तानी के रूप में देखा जाने लगा। अगर कोई भी चाहे अकाउंट को हैंक करके किसी को खालिस्तानी लिख देंगे तो भारत के लोग उसे खालिस्तानी कहने लगेंगे ये साबित होता है धर्म के नाम पर राजनीति ने देश को बांटने का काम किया है। अब हमें एक दूसरे पर विश्वास नहीं है। क्या हो गया हमारी सोच को ये इस मुद्दे ने सवाल खड़ा कर दिया है। यहाँ बताना चाहेंगे कि एक सोंच अर्शदीप के हक़ में चल दी है।

जो माहौल को सही करने में अहम भूमिका निभा रही है परन्तु देश को और लोगों को अपने और बे गानों के अर्थ को समझना पड़ेगा एक हार हमारी एकता को तोड़ दे ये सोचने का विषय है। पाकिस्तान ने मैच नहीं जीता उसने अपनी चाल से एकता पर अटैक कर दिया।  बाकी  समझदार हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Featured post

 पठान मूवी को मिली पहले दिन अच्छी ओपनिंग , हिंदु संगठनों का विरोध भी काम नहीं आता।