Pregnant woman will also have to get covid-19 vaccine, government issued rules !! गर्भवती महिला को भी लगवाना होगा कोविड-19 टीका सरकार ने जारी किए नियम !!

 गर्भवती महिला को भी लगवाना होगा कोविड-19 टीका सरकार ने जारी किए नियम



आपको बता दें कि आईसीएमआर और केंद्र सरकार ने पहले ही कह दिया था कि गर्भवती महिलाओं को कोविड-19 से बचाव को लेकर टीका लगवाना जरूरी है स्वास्थ्य मंत्रालय और केंद्र सरकार ने इस संबंध में कुछ नियम भी जारी कर दिए हैं इसमें कोविड-19 के वैक्सीनेशन को लेकर चिंताओं और सुरक्षाओं को दूर किया गया है और स्पष्ट किया read more....

pregnant-woman-will-also-have-to-get
COVID 19 VACCINETION
नई दिल्ली स्वास्थ्य मंत्रालय और केंद्र सरकार ने इस संबंध में कुछ नियम भी जारी कर दिए हैं इसमें कोविड-19 के वैक्सीनेशन को लेकर चिंताओं और सुरक्षाओं को दूर किया गया है और स्पष्ट किया गया है कि यह कोविड-19 वैक्सीनेशन पूर्ण रूप से सुरक्षित है और इसे लगवाने के बाद उन्हें कोरोना वायरस या कोविड-19 के संक्रमण से बचा बचाया जा सकता है !!

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय गर्भवती महिलाओं के कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर नियमों में कहा है कि कोविड-19 के वैक्सीन पूरी तरह से सेफ हैं और गर्भवती महिलाओं को भी अन्य लोगों की तरह ही कोविड-19 के संक्रमण से बचाव करेंगी !
कैसे लगवाए कोविड  वैक्सीन

नियमों के मुताबिक गर्भवती महिलाएं कोविड-19 वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवा सकती हैं या तो इंटरनेट से अपने आप को पंजीकृत करवा सकती हैं


क्यों जरूरी है गर्भवती महिलाओं का वैक्सीनेशन

क्यों जरूरी है गर्भवती महिलाओं का कोविड-19 वैक्सीनेशन इसका जवाब देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि बहुत सी गर्भवती महिलाओं में कोविड-19 का लक्षण शुरुआती तौर पर बहुत ही मामूली होता है लेकिन कई मामलों में देखा गया है !

कि इसकी वजह से उनके शरीर या सेहत पर अचानक गिरावट आ जाती है और इसका असर उनके गर्भ में पल रहे ढूंढ पर भी हो सकता है इसलिए जरूरी है कि गर्भवती महिलाएं हर तरह से अपनी सुरक्षा के लिए सतर्क रहें इसीलिए गर्भवती महिलाओं को कोविड-19 वैक्सीन लगवाना जरूरी है

कोविड-19 बच्चे को कैसे प्रभावित करता है 


इसमें बताया गया है कि लगभग 95% से अधिक मामलों में कोविड-19 पोजिटिव माओ के बच्चों का स्वास्थ्य जन्म के समय अच्छा रहता है लेकिन कुछ कुछ मामलों में देखा गया है कि गर्भवस्था में कोविड-19 संक्रमण के कारण प्रीमेच्योर डिलीवरी की स्थिति बनी रहती है इस स्थिति में बच्चों का वजन लगभग ढाई किलोग्राम से भी कम होता है और इसी वजह से जन्म से पहले ही यानी गर्भ में ही बच्चे की जान चली जाती है ! 

किस उम्र की महिलाओं को है कोविड-19 का खतरा मेरी

आपको बता दें कि WHO द्वारा यह स्पष्ट किया गया है कि जो गर्भवती महिलाएं हैं उनकी उम्र यदि 35 वर्ष से अधिक है और उनका वजन अधिक है और जिन्हें डायबिटीज या हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है उन पर कोविड-19 का खतरा बहुत ही ज्यादा बना रहता है !

आपको बता दें कि जो महिलाएं गर्भावस्था में कोविड-19 की चपेट में आकर फिर से सही हो चुकी हैं वह थोड़ा इंतजार कर सकती हैं और अपनी डिलीवरी के बाद उन्हें तुरंत कोविड-19 वैक्सीन लगवा लेनी चाहिए !

तो यह हमारी जानकारी आपको कैसी लगी आप कमेंट करके हमें बता सकते हैं अधिक जानकारी के लिए हमारे चैनल SSSNEWSHINDI पर विजिट करें 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Featured post

 पठान मूवी को मिली पहले दिन अच्छी ओपनिंग , हिंदु संगठनों का विरोध भी काम नहीं आता।