After the Delta + variant of Corona, now another problem is seen in the form of Lambda variant !! कोरोना के डेल्टा + वैरिएंट के बाद अब एक और मुसीबत लैम्बडा वेरिएंट के रूप में नजर आ रही है !!

कोरोना के डेल्टा + वैरिएंट के बाद अब एक और मुसीबत लैम्बडा  वेरिएंट के रूप में नजर आ रही है 

कोरोना की दूसरी लहर थमती नजर आ रही है मगर इससे खतरा टला नहीं है करोना वायरस की दूसरी लहर के बाद करोना का दूसरा रूप डेल्टा प्लस वेरिएंट देखने को मिला था जो बहुत ही खतरनाक है अभी सूत्रों के मुताबिक पता चलता है कि अब करोना का दूसरा रूप सामने आ रहा है जिसका नाम लैम्बडा वेरिएंट है अब यह भी मुसीबत  read more .......


after-delta-variant-of-corona-now

करोना वायरस की दूसरी लहर के बाद करोना का दूसरा रूप डेल्टा प्लस वेरिएंट देखने को मिला था जो बहुत ही खतरनाक है अभी सूत्रों के मुताबिक पता चलता है कि अब करोना का दूसरा रूप सामने आ रहा है जिसका नाम लैम्बडा वेरिएंट है अब यह भी मुसीबत बढ़ाने के लिए आगे आ रहा है !!

 दरअसल करोना का नया वेरिएंट लैम्बडा को मूल रूप से पेरू में खोजा गया था ब्रिटेन में इसे रिपोर्ट किया गया था सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के अनुसार करोना वायरस लगातार बढ़ रहा है और इसका रूप भी बढ़ रहा है और सब ने आशंका जताई है !!

 कि इसके और भी कई वैरीअंट जैसे अभी तक डेल्टा प्लस वेरिएंट और लैम्बडा वेरिएंट आया है वैसे इसके और भी वैरीअंट आ सकते हैं कई बार इसके वेरिएंट आते हैं मगर बिना नुकसान पहुंचाए चले जाते हैं मगर कुछ इसके वैरीअंट है जो बहुत ज्यादा खतरनाक साबित हो जाते हैं !!

रिपोर्टों के मुताबिक दक्षिण ब्राजील जहा लैम्बडा  वेरिएंट के मामले की पुष्टि हो चुकी है ब्रिटेन में यह तेजी से फैल रहा है यह वैरीअंट कितना खतरनाक और संक्रमण हो सकता है तथा वैक्सीन इस पर कितनी असरदार होगी या पूरी जानकारी जांच के बाद ही सामने आएगी ब्रिटेन में पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड की मानें तो दो डोज लेने के बाद अगर संक्रमित होते हैं तो अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति से बचा जा सकता है !!

लैम्बडा  वेरिएंट पहली बार पेरू में अगस्त 2020 में सामने आया था तब से अब तक यह वैरीअंट के 29 देशों में इसके मिलने की पुष्टि हो चुकी है विशेषज्ञों का दावा है कि इस तरह के वायरस 10 प्रोटीन में कई म्यूटेशन देखे गए हैं या इसकी रूप बदलने की क्षमता और योग्यता को बढ़ा देता है !!

 ब्रिटेन में पिछले हफ्ते डेल्टा प्लस वेरिएंट के करीब 35000 मामले सामने आए है वही पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड यानी पीएचई ने इसके अलावा गत 23 फरवरी से 7 जून तक लैम्बडा वैरीअंट के 6 मामलों की सूचना दी है पीएचई की माने तो टीका लगवाने के बाद भी अगर संक्रमित होते हैं तो अस्पताल में भर्ती होने जैसी स्थिति नहीं होगी यानी इस वैरीअंट पर टिका काफी हद तक प्रभावी होगा !!

इसके लक्षण क्या है

* बुखार आना !!
* अधिक समय तक खासी आना !!
* स्वाद न आना !!
* किसी भी चीज की गंध न आना !!

विशेषज्ञों की मानें तो ऐसा कोई भी लक्षण शरीर में देखने पर अपना टेस्ट तुरंत कराना चाहिए !!

इससे बचाव कैसे करें

* सोशल डिस्टेंसिंग रखे !!
* रोज नहाए धोए !!
* साफ सफाई अपने घर के चारों तरफ बनाए !!
* जितनी जल्दी हो सके कोविड-19 का लगवाएं !!

तो यह हमारी जानकारी आपको कैसी लगी आप कमेंट करके हमें बता सकते हैं अधिक जानकारी के लिए हमारे चैनल SSSNEWSHINDI पर विजिट करें

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Featured post

बंदी सिंहगो की रिहाई पर मोहाली में मोर्चा ? (bandi siinghago ki rihaayi par maholi me morch)