NDMC hikes license fee by up to 7% !! कोविड-19 की मार के बीच एक और मुश्किल !!

  कोविड-19 की मार के बीच एक और मुश्किल NDMC ने लाइसेंस शुल्क में सात प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की

कोविड-19 एक और मुश्किल दिल्ली में बिजनेस चलाने वालों को देनी होगी ज्यादा लाइसेंस  फीस !!
हां तो बता दें वर्ष 2021-22 के लिए अलग-अलग व्यापार लाइसेंसों की अनुमति और नवीनीकरण के लिए वार्षिक शुल्क में 7% तक की वृद्धि कर दी गई है इसमें होटल रेस्टोरेंट कॉफी की दुकान में ठहरने के घर और मिठाई की दुकान में भी शामिल होती हैं read more ....

ndmc-hikes-license-fee-by-up-to-7-19
COVID-19

बता दें कि कोविड-19 के कारण बंद दुकानों की आर्थिक व्यवस्था में बिगड़ चुकी हैं इस दौरान नई दिल्ली नगरपालिका परिषद ने 2021 बारिश के लिए अलग-अलग व्यापार लाइसेंसों की अनुमति और नवीनीकरण के लिए 7% तक की वृद्धि कर दी है 

इसमें होटल रेस्टोरेंट कॉफी की दुकानें होटल घर और मिठाई की दुकाने भी शामिल हैं अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि लाइसेंस में सबसे अधिक 5 स्टार होटलों के लिए की गई है 
उन्हें पहले सालाना ₹61200 देने थे लेकिन आब  ₹65484 देने होंगे

 निकाय के लिए वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा वर्ष 2021 व्यवसाय  के लिए लाइसेंस शुरू शुल्क में वृद्धि 1 अप्रैल से लागू होगी छोटी दुकानों  के लिए लाइसेंस में कोई वृद्धि नहीं होगी

आपको बता दे व्यापारियों का कहना है कि वे अभी कोविड-19 के कारण हुए आर्थिक नुकसान से उबरने के दौरान ऐसे वक्त में फीस क्यों बढ़ाई गई है दिल्ली के कनॉट प्लेस बाजार का प्रतिनिधित्व करने वाले नई दिल्ली ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अतुल भादो ने कहा लाइसेंस शुल्क में वृद्धि का प्रतिशत कोई बहुत अधिक नहीं है
लेकिन इसे बढ़ाने का समय बहुत गलत है व्यापारी घाटे में चल रहे हैं और लॉकडाउन हटने के बाद भी कारोबार अभी पटरी पर नहीं आया है महामारी के दौरान व्यापारियों को किसी भी तरह की छूट नहीं दी गई है और उसके ऊपर अब एक अतिरिक्त खर्च लगा दिया गया है
 
खान मार्केट ट्रेडर्स एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने भी कहा कि इस समय सरकार से और समर्थन की उम्मीद है कर और उपयोगिता दिल में कुछ छूट से उन व्यापारियों को राहत मिलेगी जो 1 वर्ष से अधिक समय से अपनी जेब से फिर से चला रहे हैं यह सब समय बहुत ही असंवेदनशील से कदम है 

कोविड-19

कसाई-मछली बेचने वाले और मुर्गा_बेचने वालों के लिए वार्षिक लाइसेंस शुल्क को 12 सो रुपये से बढ़ाकर 12 सो 84 रुपये कर दिया गया है |

अधिकारियों ने बताया कि 20 बिस्तरों से कम वाले गेस्ट हॉउस को अब 24 सो  रुपये की बजाय 2 हजार 568 रुपये  21 से 50 बिस्तर वाले को 6 हजार 1 सो  रुपये की बजाय 6 हजार 527 रुपये, 50 से 100 बिस्तर वालों को 12 हजार 2 सो  रुपये की जगह 13 हजार 54 रुपये और 100 बिस्तर से अधिक वाले गेस्ट हाउस को 24 हजार  5 सो रुपये की जगह अब 26 हजार 215 रुपये का शुल्क भरना होगा |

 तो दोस्तों हमारे द्वारा बताई गई जानकारी कैसी लगी अधिक जानकारी चलिए हमारे यूट्यूब चैनल SSSNEWSHINDI पर जाकर भी अधिक जानकारी ले सकते हैं 
                                                                                        धन्यवाद दोस्तों


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Featured post

नशे की गिरफ्त में युवा बन रहे हैं अपराधी