कुदरत का कहर, बारिश से कई क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित, हो रहा भूस्खलन | The havoc of nature, many areas are badly affected by rain, landslides are happening||

 उत्तरप्रदेश | उत्तराखण्ड |

कुदरत का कहर, बारिश से कई क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित, हो रहा भूस्खलन | The havoc of nature, many areas are badly affected by rain, landslides are happening||

उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड में बाढ़ और बारिश ने तबाही मचा रखी है |राज्यों में बहुत ही भयानक मंजर देखने को मिला है |
SSSNEWS.IN
कुदरत का कहर, बारिश से कई क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित, हो रहा भूस्खलन | The havoc of nature, many areas are badly affected by rain, landslides are happening||
 
उत्तराखंड में इससे पहले 2013 में ऐसा ही मंजर देखने को मिला था| उत्तराखंड में अबतक बारिश और भूस्लखलन से लगभग 4 दर्जन लोगों की मौत हो चुकी है और कई लोगों के लापता होने की खबर है | जिसमे कुमाऊ क्षेत्र बहुत ही प्रभावित हुआ है यहाँ बारिश से ही सिर्फ 40लोगों की मौत हो गयी |बारिश और भूस्खलन से यहाँ के रास्ते भी प्रभावित हुए हैं , उत्तराखंड को दिल्ली से जोड़ने वाली रेलवे लाइन और कई सड़कें भी क्षतिग्रस्त हो गई है |हेलिकॉप्टरसे रेस्क्यूऑपरेशन भी चलाया जा रहा है |
SSSNEWS.IN
कुदरत का कहर, बारिश से कई क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित, हो रहा भूस्खलन | The havoc of nature, many areas are badly affected by rain, landslides are happening||

उत्तरप्रदेश में 2018और 2019 में ऐसी ही तबाही देखी गई थी |उत्तरप्रदेश में बीते 24 घंटो में 40लोगों की मौत हो चुकी है और बहुत से घर भी टूट गये हैं जिनमें कुछ लोगों की मलबे में दबने से मौत हो गई और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है | कई जानवरों की भी मौतें हो गयी हैं| बारिश के कारण किसानों का भी बहुत नुकसान हो गया जिसमें किसानों की फसलें पूरी तरह से नष्ट हो गई है |कई क्षेत्र बारिश से बहुत ही प्रभावित हुए हैं जिसमें कई सड़कों पर पेड़ गिर गए जिससे आवागमन भी प्रभावित है | निचले क्षेत्रों में बारिश की वजह से लोगों के घरों में पानी भर गया है |रेलवे भी बारिश से बहुत प्रभावित हैं |
ऐसी और भी अपडेट के लिए हमारी वेबसाइट SSSNEWS.IN पर जाएं और अधिक जानकारी के लिए हमारे चैनल SSSNEWSHINDI पर विजिट करें !!

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Featured post

बंदी सिंहगो की रिहाई पर मोहाली में मोर्चा ? (bandi siinghago ki rihaayi par maholi me morch)