Moradabad police_jija ki jagah sipahi ki naukari ...SSSNEWSHINDI

 ''मुरादाबाद में जीजा की जगह सिपाही की नौकरी           करने वाले शातिर साले ने खोले कई राज''

moradabad-policejija-ki-jagah-sipahi


मुरादाबाद में जीजा की जगह पांच साल तक सिपाही की नौकरी करने वाला शातिर साला भी शनिवार को पुलिस के हत्थे चढ़ गया। दोनों को कड़ी सुरक्षा में कोर्ट में पेश किया गया, जहां से दोनों को चौदह दिन की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने फर्जीवाड़े की बारीकी से जांच शुरू कर दी है। माना जा रहा है कि जल्द ही फर्जीवाड़े में शामिल कुछ अन्य पुलिसकर्मियों के चेहरे भी सामने आएंगे।

मुजफ्फरनगर के थाना खतौली के गांव दाहोड निवासी अनिल कुमार ने अपने साले सुनील कुमार उर्फ सनी के साथ मिलकर पुलिस विभाग की आंखों में धूल झोंका। अनिल का चयन 2011 में पुलिस में सिपाही के पद पर हुआ था। उसे पहली तैनाती बरेली में मिली थी। कुछ साल की नौकरी के बाद 2016 में उसका चयन सहायक अध्यापक के पद पर हो गया था। इसके बाद ही उसने साजिशन अपना तबादला मुरादाबाद करा लिया और अपनी जगह साले सुनील को ज्वाइन दिया। तबसे सुनील उसकी जगह ठाकुरद्वारा पीआरवी में नौकरी कर रहा था। शुक्रवार को एफआईआर के बाद अनिल को मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार कर लिया गया था जबकि सुनील पुलिस को धोखा देकर थाने से भागने में कामयाब हो गया था। पुलिस ने उसे शनिवार को ठाकुरद्वारा के तिकोनिया बस स्टैंड के पास से गिरफ्तार कर लिया। इंस्पेक्टर ठाकुरद्वारा ने बताया कि आरोपी जीजा-साले को कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गय है। फर्जीवाड़े की बारीकी से जांच शुरू कर दी गई है।

खुद को एक्शन फिल्मों का हीरो समझता था सुनील

जीजा की जगह फर्जी ढंग से पुलिस की नौकरी कर रहा साला सुनील कुमार उर्फ सनी ने वर्दी और सर्विस पिस्टल का भरपूर रौब गांठता था। वह खुद को एक्शन फिल्मों का हीरो समझता था। यही कारण है कि उसकी फेसबुक पर वर्दी में पिस्टल के साथ एक्शन करती तस्वीरों से भरी पड़ी हैं। उसकी यही तस्वीरें जानने वालों को खटकने लगी थीं। इतना ही नहीं बीते दिनों ठाकुरद्वारा पीआरवी (0281 ) पर तैनात एक अन्य सिपाही के एक सेक्स स्कैंडल में फंसने से दौरान भी उसने वर्दी का खूब रौब झाड़ा और वाहन चालकों को जमकर परेशान किया। उसने कांस्टेबल को स्कैंडल में फंसाने वाली महिला से हमदर्दी भी दिखाई थी।
visit our Youtube channel click here 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Featured post

बंदी सिंहगो की रिहाई पर मोहाली में मोर्चा ? (bandi siinghago ki rihaayi par maholi me morch)